Uttarakhand में Aaj फिर फूटा Corona बम, 75 नए मरीज मिलने से 1637 हुए संक्रमित....




बृहस्पतिवार को प्रदेश में 75 और कोरोना संक्रमित मिले हैं। अपर सचिव स्वास्थ्य डॉ. युगल किशोर पंत ने इसकी पुष्टि की है। वहीं, अब प्रदेश में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 1637 हो गई है। इसमें से 837 संक्रमित मरीज ठीक हो चुके हैं। वहीं, 778 एक्टिव केस हैं|

यह भी पढ़ें: बुखार ही नहीं ये तीन लक्षण भी दिखें तो हो सकता है कोरोना, डॉक्टर ने बताए बचाव के उपाय 
आज आई स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, टिहरी जनपद में 30, देहरादून में 16, चमोली में तीन, हरिद्वार में 15, पौड़ी में एक, रुद्रप्रयाग में छह, ऊधमसिंह नगर में तीन केस सामने आए हैं। वहीं, एक प्राईवेट लैब से आई जांच रिपोर्ट में भी संक्रमित केस सामने आया है।
         

उत्तराखंड में बीते दस दिनों में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या सक्रिय मामलों से अधिक हो गई है। प्रदेश की रिकवरी दर 51.79 प्रतिशत हो गई है। अपर सचिव युगल किशोर पंत ने बताया कि केंद्र की ओर से कोरोना संक्रमित मरीजों को डिस्चॉर्ज करने के लिए नई गाइडलाइन जारी की गई है।


जिसमें संक्रमित मरीज को 10 दिन निगरानी में रखा जाएगा। सात दिन के बाद यदि मरीज में कोरोना के लक्षण नहीं दिखाई देते हैं तो उसे अस्पताल से घर भेजा जाएगा। प्रदेश में रिकवरी दर 51 प्रतिशत पहुंच गई है। 


राजकीय दून मेडिकल अस्पताल की एक और महिला डॉक्टर समेत तीन स्वास्थ्य कर्मियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। कोरोना के स्टेट कोऑर्डिनेटर डॉ. एनएस खत्री ने इसकी पुष्टि की है।

जूनियर रेजिडेंट महिला डॉक्टर कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज और देखभाल कर रही थीं। जबकि स्वास्थ्य कर्मी भी लगातार रोटेशन पर कोरोना मरीजों की देखभाल कर रहे हैं।  दून अस्पताल समेत अन्य अस्पतालों में डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के कोरोना संक्रमण की जद में आने से स्वास्थ्य विभाग के साथ ही शासन प्रशासन की भी चिंता बढ़ी हुई है।

कोरोना मरीजों की देखरेख में जुटे डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मियों को संक्रमण से बचाने के लिए अस्पताल प्रशासन अलग-अलग रणनीतियों पर मंथन में जुटा है।

Post a Comment

0 Comments